दोस्तों अगर आप इंटरनेट का उपयोग करते है तो यह आर्टिकल आपके लिए काफी महत्वपूर्ण है। चाहे आप किसी वेबसाइट पे विजिट करते है या फिर सोशल मीडिया का इस्तेमाल करते है। या तो फिर आप ऑनलाइन पैसे का लेन देन करते है, तो यह जानकारी आपके काम लायक है। दोस्तों इसी बात को ध्यान में रखकर मै आपको आज SSL aur TLS के बारे में बाताने वाला हु। ये दोनों ही आज की टेक्नोलॉजी में मुख्य भूमिका निभाते है। शायद ही कोई ऐसा होगा जो इसके बारे नहीं जनता हो। अगर आपको इसके बारे में नहीं पता है तो कोई बात नहीं आज के बाद जान जायेंगे। इस आर्टिकल में आपको पूरी तरह से समझाया गया है।

SSL aur TLS Certificate Kya Hota Hai

दोस्तों अगर आप दैनिक जीवन में इंटरनेट के द्वारा अपने काम को करते है तो आपको इसके बारे में जानना बहुत जरुरी है। ये SSL or TLS आपके ब्राउज़िंग को सुरक्षित बनाते है। आप कभी न कभी किसी वेबसाइट पर विजिट करते ही होंगे। वहाँ पर आपको सर्च बार में एक ग्रीन Pad Lock दिखाई देता है। जिसका मतलब होता है की वह वेबसाइट पूरी तरह से सिक्योर है। अगर आप यहाँ पर को डाटा शेयर करते है, तो आपका डाटा सुरक्षित रहेगा। ये सब SSL aur TLS की मदद से संभव होता है। चलिए देखते है की ये क्या होता है, और कैसे काम करता है।  

SSL Certificate Kya Hota Hai

दोस्तों आपको तो पता ही होगा की आजकल इंटरनेट पर आये दिन किसी न किसी का डाटा चोरी होता ही रहता है। जिसके कारण लोगो को काफी नुकशान होता है। जिससे बचने के लिए वेबसाइट का ओनर इस सर्टिफिकेट का इस्तेमाल करता है। SSL का Secure Socket Layer होता है। कहने का मतलब यह की इंटरनेट पर सुरक्षा की परत। यानि इसका मतलब है की यह आपके इंटनेट कनेक्शन को सुरक्षित करता है। यह आपके और किसी वेबसाइट पर शेयर किये गए डाटा को सुरक्षा देता है। अगर आप किसी ऐसे वेबसाइट पर विजिट करते है, और आपको Green Pad Lock दिखाई देता है। जिसका मतलब है की आप को उस वेबसाइट से कोई खतरा नहीं है। अगर यहाँ पर आप यहाँ पर कोई सेंसिटिव डाटा शेयर करते है तो इसके हैक होने का खतरा नहीं होता है।

उदाहरण के लिए जब आप शॉपिंग के लिए पेमेंट करते है तो आपको अपना अकाउंट डिटेल देना पड़ता है। उस समय आपको ध्यान देना चाहिए की उस वेबसाइट में Green Pad Lock होना चाहिए। अगर ऐसा होता है तो आपका डाटा एन्क्रिप्ट हो जाता है जिसे कोई पढ़ नहीं पाता है। लेकिन अगर आप किसी ऐसे वेबसाइट पर जाते है जहा आपको Green Pad Lock दिखाई देता है तो यहा पर आपके द्वारा शेयर किया गया डाटा चुराया जा सकता है। अगर ऐसा होता है तो आपको बहरी नुकशान का सामना करना पड़ सकता है।

TLS (Transport Layer Security)

दोस्तों TLS का मतलब होता है Transport Layer Security जो SSL का आधुनिक वर्शन है। हालाँकि ज्यादा से ज्यादा लोग केवल SSL के बारे में ही जानते है। लेकिन जब कोई एक SSL Certificate अपने वेबसाइट के लिए लेता है तो वह साथ में TLS Certificate भी लेता है। TLS एक Criptographic Protocol है जो आपके डाटा को किसी नेटवर्क पर सुरक्षा प्रदान करता है। यानि डाटा को एन्क्रिप्ट करता है। वास्तव में यह SSL से बेहतर होता है जिसमे आपको एडवांस फीचर मिलते है। इसके कारण भी आपको ब्राउज़र के सर्च बार में आपको https (Hyper Text Transfer Protocol Secure) के साथ Green Pad Lock दिखाई देता है।

Conclusion 

दोस्तों आशा है यह आर्टिकल आपको पसंद आया होगा। आज हमने इंटरनेट की कुछ महत्वपूर्ण शब्द SSL aur TLS के बारे में जाना साथ ही यह जाना की यह हमारे लिए कितना फायदेमंद है। अगर अच्छा लगा तो इसे लाइक और शेयर करें।

धन्यबाद

“Happy Reading”

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.