Artificial Intelligence (AI) Skills, India’s Third Ranking

73
0
SHARE
Artificial Intelligence (AI) Skills, India's Third Ranking

दोस्तों आज की पोस्ट में मै आपको Artificial Intelligence के बारे बात करने वाले है, ये शब्द सुनाने के बाद आपके मन में कई तरह के सवाल आ रहे होंगे जैसे की ये क्या है, इससे हमें क्या फायदा है, ये काम कैसे करता है ? इत्यादि वैसे तो आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस को समझाना केवल एक पोस्ट में संभव नहीं है। लेकिन मै कोशिश करूँगा की अपको छोटा और सटीक उत्तर मिल जाये, तो आईये देखते है :-

Artificial Intelligence(AI, कृत्रिम बुद्धि ) के बारे में 

दोस्तों ये शब्द आप कई बार सुना होगा जैसे ये स्मार्टफोन का कैमरा आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस को सपोर्ट करता है। यदि एआई को आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के रूप में व्याख्या किया जाय, तो हम कह सकते हैं कि मानव खुबियो को मशीन इंटेलिजेंस में बदलना या साफ शब्दों में कहा जाए तो कृत्रिम दिमाग बनाना। कृत्रिम बुद्धि की मदद से, इन्शानो की तरह काम करने वाली मशीनों को विकसित किया जा रहा है। इस कार्य क्षेत्र में  पिछले कुछ सालों में काफी बदलाव देखने को मिला है, कई कंपनियों, विशेष रूप से Google और माइक्रोसॉफ्ट ने आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के क्षेत्र में बहुत सारे काम शुरू कर दिया है। आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की मदद से कंप्यूटिंग पावर को बढ़ाई जा रही है, और टेक्नोलॉजी को और बेहतर बनाया जा रहा है। 

परन्तु इस चीज बहुत से लोग यह भी मानते हैं कि अगर कृत्रिम बुद्धि का हमारे जीवन में ज्यादा उपयोग होता है तो इसके कारण बेरोजगारी बढ़ सकती है। लेकिन कुछ लोगो का कहना है की आजके समय में जीतनी जरुरत नौकरी के अवसरों की है, उससे कही ज्यादा काम करने की तरीको में बदलाव की जरुरत है। अहगर ऐसा होता है तो इन क्षेत्रों के काम करने वाले कर्मचारियों के सामने हर रोज नए प्रकार के काम होंगे, और जिसे करने के लिये आपके पास होगा कंप्यूटर और रोबोट जो काम को सरल बनाने में आपकी मदद करेंगे ।

एआई एल्गोरिदम की वजह से, वो सारी चीजें आसानी से की जा सकती हैं, जो लगातार एक ही रास्ते पर होती हैं और बहुत समय लेती हैं। मनुष्य पारस्परिक संबंध, सामाजिक कार्य और भावनात्मक गुणों को परिष्कृत करने में काफी सक्षम होंगा । इन सभी का फायदा विकासशील देशों को कृषि क्षेत्र में होगा।

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस क्षेत्र में भारत का स्थान 

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) कौशल क्षेत्र में शीर्ष तीन देशों में भारत का नाम भी शामिल किया गया है। इस क्षेत्र में भारत का स्थान, अमेरिका और चीन के बाद तीसरे स्थान पे है। भारत के बाद, इज़राइल और जर्मनी का नंबर हैं। अगर हम जारी किये गए आंकड़ों पर नजर डाले तो इनके मुताबिक, कृत्रिम बुद्धि का उपयोग इन देशों में काफी बढ़ गया है। भारत में, 2017 में, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस सदस्यों की संख्या 2015 में बढ़कर 190% तक हो गई है।

एआई ( कृत्रिम बुद्धि ) के क्षेत्र में भारत क्यों आगे निकला 

फिलहाल भारत दुनिया की सबसे तेजी से आगे बढ़ रहा है और अपने अर्थव्यवस्था को भी बढ़ा रहा है। साथ ही, प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में, भारत दुनिया के शीर्ष देशों के साथ कदम से कदम मिला कर चल रहा है। केंद्र सरकार नीति आयोग भी आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस पर जोर दे रहा है। भारत अपने इस कार्य क्षेत्र को हेल्थकेयर, कृषि, शिक्षा, स्मार्ट सिटी और इंफ्रास्ट्रक्चर में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस को सम्मलित करने के बारे में अपना ध्यान केंद्रित कर रहा है।  

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.